Elections

क्या अब गिर जाएगी महाराष्ट्र सरकार ?

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी की सरकार एंटीलिया केस और गृहमंत्री शिवसेनाएनसीपी के साथ अपने रिश्तों पर सोचने पर मजबूर हो गई है. ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार मुश्किल में आ गई है. देखा जाए तो उद्धव ठाकरे को भेजे गए आठ पेज के पत्र का असर सीधे मुकेश अंबानी केस पर तो पड़ेगा ही, साथ ही इससे महाराष्ट्र में सरकार गिरने का भी खतरा बढ़ गया है. चर्चा है कि लेटर कांड के बाद शिवसेना-एनसीपी के साथ अपने रिश्तों पर सोचने पर मजबूर हो गई है. दूसरी तरफ बीजेपी ने शिवसेना के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कोशिशें तेज कर दी हैं.

सरकार जब बन रही थी तो शरद पवार का बहुत बड़ा योगदान था और ऐसे में उनकी बातें गौर करने वाली है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए को कहा था – “अनिल देशमुख के खिलाफ आरोप गंभीर हैं। ऐसे आरोप लगाए गए हैं कि गृह मंत्री ने पुलिस को 100 करोड़ वसूली करने का निर्देश दिया था। पैसे के वास्तविक लेन-देन की कोई जानकारी नहीं है। गृह मंत्री या उनके कर्मचारियों को हस्तांतरित किए जा रहे किसी भी पैसे की कोई जानकारी नहीं है।”

सबसे बड़ी बात अब यही है कि सरकार बचेगी या जाएगी क्योंकि भ्रष्टाचार की गहरी मार झेल रही महाराष्ट्र सरकार के पास कोई रास्ता नहीं दिख रहा है।एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा कि परमबीर सिंह के ईमेल को देखकर लगता है कि ये किसी और बोलने पर किया गया है। मुख्यमंत्री और गृह मंत्री द्वारा कड़ा रुख अपनाने का फैसला करने के बाद पत्र परमबीर सिंह ने लिखा है। ये बस एक एजेंडा है।

हालांकि एक रास्ता यह बनने दिख रहा है कि गृहमंत्री को त्यागपत्र दिलवा कर किसी और को मंत्रालय दिया जाए तथा इस मामले की जाँच कराई जाए। लेकिन महारास्ट्र सरकार गिर जय इसमे भी ज्यादा अचरज वाली बात नहीं है। BJP भी शिवशेना के साथ मिल कर सरकार बनाने की जुगाड़ में लगी है और पहले भी दोनो का गठबंधन रहा है तो ऐसे में चेहरा बदल जाए इसमे कोई बड़ी बात नहीं है। अब देखना होगा कि महाराष्ट्र में राजनीति किस करवट लेती है।

पल्लवी सिंह

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top