Bihar

बिहार: केंद्रीय मंत्री रामविलास और लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान को एके 47 से उड़ाने की धमकी

बिहार के शेखपुरा जिले में मंगलवार को एक वायरल वीडियो ने राजनीतिक उफान ला दिया है। वायरल वीडियो में शहर के बंगालीपर के निवासी व शेखपुरा नगर परिषद के वार्ड नंबर-10 के वार्ड पार्षद संजय यादव केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व क्षेत्रीय सांसद चिराग पासवान को गाली गलौज करते हुए एके- 47 से उड़ा देने की धमकी देते दिख रहे हैं।

वायरल वीडियो पर संज्ञान लेते हुए लोजपा के जिलाध्यक्ष इमाम गजाली एसपी के व्हाट्सएप पर आवेदन देकर वायरल वीडियो की जांच कर आरोपी वार्ड पार्षद पर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। जिलाध्यक्ष ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा कि वार्ड पार्षद द्वारा काफी घटिया हरकत की गयी है। उन्होंने कहा कि वार्ड पार्षद जदयू से संबंध रखते हैं और इस तरह की हरकत कर गठबंधन धर्म को भी तार-तार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बात की सूचना पार्टी के वरीय अधिकारियों को भी दी गई है। यदि पुलिस जल्द से जल्द कार्रवाई नहीं करती है तो पार्टी के लोग सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे। जिलाध्यक्ष ने एके – 47 वाली बात पर विशेष जोर देते हुए मुंगेर से गायब हुए एके – 47 से इस घटना को जोड़ते हुए कहा कि पूरी गंभीरता से मामले की जांच होनी चाहिए।

लिखित शिकायत मिलने पर होगी कार्रवाई : एसपी
एसपी दयाशंकर ने कहा कि लोजपा जिलाध्यक्ष द्वारा शिकायत मिली है। उन्हें थाना में लिखित शिकायत देने को कहा गया है। आवेदन मिलने पर आरोपी वार्ड पार्षद के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी। वहीं, सदर थाना के एसएचओ अखिलेश कुमार ने कहा कि शिकायत के आलोक में वार्ड पार्षद की तलाश शुरू कर दी गई है। वीडियो वायरल होने के बाद से वार्ड पार्षद भूमिगत हो गये हैं। पुलिस उनके छुपने के सभी ठिकानों पर खोजने में जुट गई है। उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट से वायरल वीडियो की जांच करायी जा रही है।

राजनीतिक षड्यंत्र कर फंसाया गया- पार्षद
वायरल वीडियो के संबंध में मोबाइल फोन से अपना पक्ष रखते हुए पार्षद संजय यादव ने कहा कि राजनीतिक षड्यंत्र कर उन्हें फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राशनकार्ड को लेकर सोमवार की देर शाम को उनके वार्ड के ही कुछ लोग हंगामा कर रहे थे। इसी संदर्भ में उनके द्वारा कहा गया था कि खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान हैं और कार्ड देना उनका काम है। इसी दौरान साजिश कर उन्हें गुस्सा दिलाकर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया गया। बता दें कि पार्षद का एक बार पहले भी वीडियो वायरल हो चुका है, जिसमें भी हंगामा मचा था।

पार्षद जदयू के प्राथमिक सदस्य भी नहीं : जदयू जिलाध्यक्ष
वार्ड पार्षद के जदयू नेता कहे जाने पर इसका खंडन जदयू के जिलाध्यक्ष अंजनी कुमार सिंह ने किया है। उन्होंने प्रेस बयान जारी कर कहा कि वार्ड पार्षद संजय यादव जदयू के प्राथमिक सदस्य भी नहीं हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे ही कभी कभार पार्टी के कार्यक्रमों में वे भाग लिये होंगे तो इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। उन्होंने वार्ड पार्षद के जदयू के साथ किसी तरह के रिश्ते से इनकार किया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top