Haryana

जानें, राजस्थान के कांग्रेसी विधायकों के मानेसर के होटलों में रुकने के सवाल पर CM खट्टर ने दिया क्या जवाब?

राजस्थान में जारी सियासी संकट और गुरुग्राम जिले के मानेसर के दो होटलों में ठहरे राजस्थान कांग्रेस के विधायकों के बारे में पूछे जाने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री
मनोहर लाल खट्टर
ने बुधवार को कहा कि निजी होटल सभी के लिए खुले हैं और कोई भी वहां ठहर सकता है। हरियाणा सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। हमने किसी को जबर्दस्ती यहां रोककर नहीं रखा है।
जानकारी के अनुसार, कांग्रेस का आरोप है कि हरियाणा के ये दो होटल विधायकों की खरीद फरोख्त अड्डा बन गए हैं। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार से बगावत कर सचिन पायलट और कुछ विधायक भी हरियाणा में मानेसर के दो होटलों में आकर रुके हुए हैं। हालांकि, राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद पायलट ने बुधवार को यह स्पष्ट कर दिया कि वह भाजपा में शामिल नहीं हो रहे हैं।

कांग्रेस ने अपने बागी नेता सचिन पायलट को स्पष्ट संकेत देते हुए बुधवार को कहा कि अगर पायलट भाजपा में नहीं जाना चाहते तो वह हरियाणा में भाजपा सरकार की मेजबानी त्याग दें और मानेसर के दो होटलों में ठहरे अपने विधायकों सहित भाजपा के चंगुल से बाहर निकलें और वापस अपने घर जयपुर लौट आएं।
कांग्रेस ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को गिराने की साजिश में शामिल होने के आरोप में सचिन पायलट और दो और मंत्रियों विश्वेंद्र सिंह तथा रमेश मीणा को मंगलवार को उनके पदों से बर्खास्त कर दिया था। पायलट को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पद से भी हटा दिया गया है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व ने पायलट को भी युवावस्था में ही सांसद, मंत्री और प्रदेशाध्यक्ष जैसे अनेक पदों पर नियुक्त कर आगे बढ़ाया, लेकिन खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि उन्होंने इन सब पर गौर नहीं किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस या भाजपा में शायद ही ऐसा कोई राजनेता होगा जिसे उसके दल ने इतना प्रोत्साहन देकर आगे बढ़ाया हो।

सुरजेवाला ने कहा कि हम हमारे युवा साथी सचिन पायलट और कांग्रेस विधायकों से कहेंगे कि अगर आप भाजपा में नहीं जाना चाहते तो फिर भाजपा की हरियाणा सरकार की मेजबानी फौरन अस्वीकार कीजिए। उन्होंने कहा कि अगर आप भाजपा में नहीं जाना चाहते तो मनोहर लाल खट्टर की भाजपा सरकार के सुरक्षा चक्र को तोड़कर उनके चंगुल से बाहर से आइए। उन्होंने पायलट तथा अन्य बागी विधायकों से कहा कि भाजपा के किसी भी नेता से वार्तालाप तथा चर्चा बंद कर दीजिए। परिवार के सदस्य की तरह अपने घर वापस जयपुर लौट आइए। रास्ते से भटके हुए हर कांग्रेसी विधायक को मेरी राय है कि परिवार के सदस्य को कभी परिवार में वापस आने से गुरेज नहीं करनी चाहिए। इसके साथ ही सुरजेवाला ने इन लोगों से कहा कि वे मीडिया के जरिये वार्तालाप बंद करें। सुरजेवाला ने कहा कि अपने परिवार में वापस आइए, परिवार में बैठिए और परिवार में अपनी बात रखिए। यही पार्टी के प्रति, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रति सच्ची निष्ठा होगी और आपके विश्वास एवं प्रतिबद्धता का सबसे बड़ा सबूत होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top