Delhi

पीएम मोदी ने संस्कृत के श्लोक से किया राफेल का स्वागत-‘राष्ट्र रक्षा के समान कोई व्रत नहीं’

भारतीय वायुसेना के बेड़े में पांच सुपरसोनिक राफेल शामिल हो गए हैं। इन फाइटर विमानों की अंबाला एयरबेस पर हैप्‍पी लैंडिंग हो गई ह‍ै। राफेल के आने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संस्कृत में ट्वीट कर लिखा राष्ट्ररक्षासमं पुण्यं, राष्ट्ररक्षासमं व्रतम्, राष्ट्ररक्षासमं यज्ञो, दृष्टो नैव च नैव च।। नभः स्पृशं दीप्तम्… स्वागतम्!

पीएम मोदी द्वारा ट्वीट किए गए संस्कृत शब्दों का अर्थ है.. राष्ट्र रक्षा के समान कोई व्रत नहीं.. राष्ट्र रक्षा के समान कोई यज्ञ नहीं… राष्ट्र रक्षा के समान कोई पुण्य नहीं… आकाश को स्पर्श करने वाले देदीप्यमान.. स्वागत!

बता दें फ्रांस से 7 हजार किलोमीटर की दूरी तय करके 5 राफेल बुधवार दोपहर करीब 3.15 बजे अंबाला एयरबेस पर उतरे। इस मौके पर वायुसेना अध्‍यक्ष एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया सहित वायुसेना के प्रमुख अधिकारी मौजूद हैं। लैंडिंग से पहले इन विमानों ने अंबाला एयरबेस की परिक्रमा की। पांचों राफेल एक ही एयरस्ट्रिप पर एक के बाद एक एयरबेस पर उतरे। इसके बाद इन्हें वॉटर कैनन सैल्यूट दिया गया। अंबाला एयरबेस पर 17वीं गोल्डन एरो स्क्वॉड्रन राफेल की पहली स्क्वॉड्रन होगी।

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल की लैंडिंग के तुरंत एक के बाद एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- चिड़िया अंबाला में सुरक्षित उतर गई। भारत की सरजमीं पर राफेल का उतरना सैन्य इतिहास में एक नए युग की शुरुआत है।

उन्होंने कहा देश की अखंडता के लिए जो खतरा हैं, उन्हें चिंता करने की जरूरत है। वायुसेना की ताकत में कांतिकारी बढ़ोतरी होगी। अब देश के दुशमनों को सोचना होगा।
जानकारी के अनुसार जब राफेल की टुकड़ी ने भारत के एयरस्पेस में प्रवेश किया, तब उसका आईएनएस कोलकाता से संपर्क हुआ। नौसेना के इस जहाज ने राफेल की टुकड़ी से संपर्क साधा और कहा- ‘एरो लीडर, हिंद महासागर में आपका स्वागत है। हैप्पी लैंडिंग, हैप्पी हंटिंग।’

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top