featured

पीएम मोदी ने टीएमसी का बताया फुल फॉर्म, TMC मतलब ट्रांसफर माय…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में चुनावी जनसभा को संबोधित किया और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अलावा तृणमूल कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान पीएम मोदी ने ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी का फुल फॉर्म बताया और कहा कि इसका मतलब होता है- ट्रांसफर माय कमीशन।

पीएम मोदी ने बताया- DBT और TMC का मतलब-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘भाजपा की केंद्र सरकार की नीति है- DBT- यानि ‘डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर’। पश्चिम बंगाल में दीदी सरकार की दुर्नीति है- TMC- यानि ‘ट्रांसफर माय कमीशन।’ उन्होंने पश्चिम बंगाल की जनता से कहा, ‘आपका ये जोश, हर सिंडिकेट, हर टोलाबाज का होश उड़ा रहा है. दीदी को आपके जनधन खातों से डर लगता है. बंगाल में खुले करोड़ों जनधन खाते, आपका हक आपको ही मिले, इसकी गारंटी है. साथियों, आपकी ये गर्जना बताती है कि दीदी सरकार जाने का काउंटडाउन शुरू हो चुका है।’

‘क्या हालत बना दी है दीदी ने बंगाल की?’

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘क्या हालत बना दी है दीदी ने बंगाल की? क्राइम है, क्रिमिनल है, लेकिन जेल में नहीं है। माफिया हैं, घुसपैठिए हैं, लेकिन खुलेआम घूम रहे हैं। सिंडिकेट है, स्कैम है, लेकिन कार्रवाई नहीं होती है।’ उन्होंने कहा, ‘अभी कल रात ही 24 उत्तर परगना में दर्जन से ज्यादा जगहों पर बमबाजी हुई है। बीजेपी कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया गया है। ये स्थिति ठीक नहीं है। ये बदले की हिंसा, ये अत्याचार, ये माफियाराज और नहीं चलेगा।’

टीएमसी के दिन अब गिनती के रह गए: प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में टीएमसी के दिन अब गिनती के रह गए हैं और ये बात ममता दीदी भी अच्छी तरह समझ रही हैं. इसलिए वो कह रही हैं, खेला होबे। जब जनता की सेवा की प्रतिबद्धता हो, जब बंगाल के विकास के लिए दिन-रात एक करने का संकल्प हो, तो खेला नहीं खेला जाता, दीदी।’

सोनार बांग्ला का फिर से निर्माण करना है: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं बंगाल के लोगों को विश्वास दिलाता हूं, हर भाजपा कार्यकर्ता को विश्वास दिलाता हूं कि 2 मई को बीजेपी की सरकार बनने के बाद, हर अत्याचारी पर कानून के मुताबिक कार्रवाई होगी। बीजेपी की सरकार में कानून का राज फिर से स्थापित किया जाएगा।’ उन्होंने आगे कहा, ‘हम सब को मिलकर गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, स्वामी विवेकानंद जैसे महान व्यक्तित्वों के सपनों के सोनार बांग्ला का फिर से निर्माण करना है. वो सोनार बांग्ला, जहां बंगाल के स्वर्णिम गौरव का समावेश होगा और आत्मनिर्भर का सामर्थ्य होगा।’

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top