Delhi

गुपकार गठबंधन के साथ चुनाव लड़ने पर भाजपा का कांग्रेस पर हमला, देशविरोधी बयानों पर मांगा जवाब

नई दिल्‍ली, भाजपा ने सोमवार को महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला के साथ मिलकर जिला विकास परिषद(डीडीसी) चुनाव लड़ने के एलान पर कांग्रेस पर करारा हमला बोला। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा कि इन सभी दलों का एक ही एजेंडा है कि अनुच्छेद-370 को फिर से लागू किया जाना चाहिए। प्रसाद ने फारूख अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) के विवादित बयान का हवाला देते हुए कहा कि इन लोगों ने कहा है कि अनुच्छेद-370 (Article-370) को दोबारा लागू कराने के लिए चीन की मदद लेनी पड़े तो भी हम पीछे नहीं हटेंगे।

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री (Ravi Shankar Prasad) ने अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कांग्रेस से फारूख अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) और महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के देशविरोधी बयानों पर जवाब मांगा। कानून मंत्री कहा कि कांग्रेस पार्टी को बताना चाहिए कि क्या वह फारूख अब्दुल्ला के उस बयान का समर्थन करती है जिसमें उन्होंने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 की बहाली के लिए चीन का समर्थन लेने की बात कही थी। कांग्रेस को महबूबा मुफ्ती के उस बयान पर भी जवाब देना चाहिए जिसमें उन्‍होंने तिरंगा नहीं फहराने की बात कही थी।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मौजूदा वक्‍त में कांग्रेस से इन सवालों को किया जाना जरूरी हो गया है क्‍योंकि वह डीडीसी चुनाव लड़ने के लिए कश्मीर में गुपकार गठबंधन का हिस्‍सा बन रही है। इस गठबंधन की 10 पार्टियों में प्रमुख रूप से नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी हैं। कांग्रेस भी इसका हिस्‍सा बनने जा रही है। महबूबा मुफ्ती कहती हैं कि जब तक जम्मू-कश्मीर का झंडा फहराने का अधिकार नहीं मिलेगा हम तिरंगा नहीं फहराएंगे। कांग्रेस को बताना चाहिए कि क्‍या वह इस बयान के साथ खड़ी है। हम कांग्रेस की इस देशविरोधी सोच को पूरे देश में उजागर करेंगे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गुपकार गठबंधन ने अपने एजेंडे में अनुच्‍छेद-370 को बहाल कराने की बात कही है। हमने केंद्रीय कानूनों को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों में लागू किया है। वे जम्मू-कश्मीर में भ्रष्टाचार निरोधक कानून नहीं चाहते हैं ताकि भ्रष्टाचार जारी रहे। राज्‍य के मुख्यमंत्री पद पर रह चुके लोग कह रहे हैं कि वे अनुच्‍छेद 370 की बहाली के लिए चीन की मदद लेंगे। सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी बताएं कि क्या कांग्रेस पार्टी अनुच्छेद 370 की बहाली चाहती है। क्या कांग्रेस फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के बयानों का समर्थन करती है?

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top