featured

नंदीग्राम संग्राम: ममता बनर्जी को लेकर सुवेंदु अधिकारी की फ़िसली जुबान

नंदीग्राम

भाजपा नेता और नंदीग्राम से पार्टी प्रत्याशी सुवेंदु अधिकारी ने अब तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के खिलाफ सीधा हमला करना शुरू कर दिया है। उन्होंने रविवार को कहा कि वो बंगाल की बेटी नहीं, बल्कि घुसपैठियों और रोहिंग्या मुसलमानों की ‘खाला’ हैं। अधिकारी ने कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण शुरू होने से ठीक पहले अपनी पूर्व नेता पर यह तंज कसा है। इस दौरान उन्होंने लेफ्ट-फ्रंट और कांग्रेस गठबंधन को भी आड़े हाथों लिया है और कहा है कि ये तीनों तुष्टिकरण की राजनीति को बढ़ावा देकर बंगाल को बांटकर कश्मीर बनाना चाहते हैं।

‘प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की चेयरमैन हैं ममता’

टीएमसी से भाजपा में शामिल हुए सुवेंदु अधिकारी अपनी पुरानी पार्टी और उसकी मुखिया पर हमले का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने फिर से आरोप लगाया है कि यह पार्टी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में तब्दील हो चुकी है। उन्होंने कहा-‘ममता बनर्जी इस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की चेयरमैन हैं और ‘टोलाबाज भाइपो’ (भ्रष्ट भतीजा) इसके मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। माननीया (सीएम) ने 500 करोड़ रुपये में एक विचारक को खरीदा है। यह पैसा मनरेगा, पीएम आवास योजना से लूटा गया है और कोयला, बालू और गाय की तस्करी करके जुटाया गया है।’ अधिकारी को भाजपा ने नंदीग्राम से ममता के खिलाफ टिकट दिया है।

कभी नहीं गली भाजपा की दाल,क्या इस बार होगा कमाल

राज्य विधानसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है। राजनीतिक दलों ने अपने-अपने उम्मीदवारों की घोषणा भी शुरू कर दी है। इस बार विधानसभा चुनाव में एक और जहा सबकी निगाहें किसकी सरकार बनेगी इस बात पर टिकी हुई है वहीं दूसरी ओर सिलीगुड़ी विधानसभा केंद्र पर किसका कब्जा होगा, इसको लेकर भी उत्सुकता है। क्योंकि इस विधानसभा क्षेत्र से अधिकांश मौकों पर वाम मोर्चा उम्मीदवार की ही जीत हुई है।
जबकि राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल काग्रेस किसी भी कीमत पर सिलीगुड़ी विधानसभा पर कब्जा करना चाहती है।

तृणमूल ने इस बार ओम प्रकाश मिश्रा को मैदान में उतारा है। जबकि उनसे मुकाबले के लिए अभी भाजपा एवं वाम मोर्चा ने अभी अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है। ऐसे माना जा रहा है कि वाम मोर्चा उम्मीदवार के रूप में एक बार फिर से माकपा नेता तथा वर्तमान विधायक अशोक भट्टाचार्य ही ताल ठोकेंगे। लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि सिलीगुड़ी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा कभी भी कमाल नहीं कर पाई है। पार्टी कभी मुख्य मुकाबले में भी नहीं रही है। बहुत ही कम वोटों के साथ तीसरे यहां तक कि चौथे स्थान पर रही है।

ये भी पढे-पंचायत चुनाव: अखिलेश ने अपने उम्मीदवारों को दिया ऐसा टारगेट… जानिए क्या करना होगा

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top