Hindi

जानिए क्या है मोदी कोड ऑफ कंडक्ट?

mamata tmc

West bengal election 2021 बीजेपी कितनी भी ताकत मुझे रोकने के लिए लगा ले, लेकिन मुझे अपने लोगों का दर्द बांटने से नहीं रोक सकती हैं। एक दिन रोक सकती है, दो दिन या तीन रोक सकती है। लेकिन चौथे दिन मैं अपने लोगों के बीच पहुंच ही जाऊंगी। यह तीखा हमला बीजेपी और चुनाव आयोग पर था।

बंगाल में चौथे चरण का मतदान के दिन हुई हिंसा पर सियासत तेज होती नजर आ रही है। ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए कहा है कि MCC का नाम मोदी कोड ऑफ कंडक्ट कर लेना चाहिए।

मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट (MCC) है। चुनाव आयोग इसी के तहत सभी पार्टियों को चुनाव के दौरान एक दिशा निर्देश देता है जिसका पालन सभी राजनीतिक दलों को अपने चुनाव प्रचार के समय करना होता है। किसी भी पार्टी के प्रत्याशी, स्टार प्रचारक, नेता द्वारा इसका उल्लंघन करने का दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ इलेक्शन कमीशन इसी के तहत कार्रवाई करता है।

लेकिन ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाती है कि मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का कोई मतलब नहीं रहा, अब यह चुनाव आयोग द्वारा नहीं मोदी के आदेश पर बनता है। इसलिए उन्होंने MCC को मोदी कोड ऑफ कंडक्ट में बदल देने की बात कही की।

दरअसल, चौथे चरण के मतदान के दिन सीतलकुची में सुरक्षाकर्मियों और उन लोगों के बीच झड़प में 4 लोगों की मौत हो गई। चौथे चरण में हुई हिंसा के मद्देनजर चुनाव आयोग ने पांचवें चरण के मतदान से 72 घंटे पहले ही चुनाव प्रचार पर रोक लगा दिया है। सभी राजनीतिक दलों के लोगों को सीतलकुची में जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। उधर ममता बनर्जी ने इसे नरसंहार करार दिया।

हालांकि, ममता बनर्जी मुख्यमंत्री होने के नाते वहां जाने की जिद पर अड़ी है, वहां का जायजा लेना चाहती है। लेकिन चुनाव आयोग ने इसकी इजाजत नहीं दी।

इसी वजह से ममता बनर्जी चुनाव आयोग और बीजेपी पर भड़की हुई नजर आई,और MCC का नामकरण मोदी कोड ऑफ कंडक्ट कर दिया।

By: Sumit Anand

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WHATS HOT

Most Popular

To Top