featured

क्या सच में मायावती का 1 हजार का सैंडल विशेष प्लेन से 10 लाख में आता था?

बीएसपी सुप्रीमों मायावती मुख्यमंत्री रहते समय अपनी सैंडल की वजह से काफी चर्चाओं में रही थी और इसका दुसरा पहलु देखें तो इस वजह से विरोधियों के निशाने पर भी रही। हालांकि वह सत्ता से लगभग 10 सालों से बाहर हैं। लेकिन इनके सैंडल के किस्से आज भी लोगों के बीच में प्रासंगिक हैं।

इस बार फिर से यूपी विधानसभा की सुगबुगाहट हो चुकी हैं और इस वजह से यह मुद्दा बनकर उभरेगा। कि वह कैसे मुख्यमंत्री रहते समय 1 हजार रुपये की सैंडल मुंबई से विशेष रूप से हवाई जहाज से लखनऊ मंगाती थी। एक बार में प्लेन से सैंडल और चप्पल मंगाने में लगभग 10 लाख रुपये का खर्च आ जाता था। आपको बता दें कि मायावती मुंबई प्लेन भेजकर सैंडल तब मंगाती थी, जब लखनऊ में कोई मनपसंद सैंडल नहीं मिलता था।

आस्ट्रेलियन इंटरनेट एक्टिविस्ट की वेबसाइट ‘विकीलीक्स’ ने 2011 में यूपी में बीएसपी की सरकार से जुड़े खुलासे कर राजनीति में उथल-पुथल मचा दी थी। विकीलीक्स के मुताबिक़ मायावती के करीबी आईएएस अफसर और उस समय के मुख्या सचिव शशांक शेखर और पार्टी नेता सतीश चंद्र मिश्रा के निर्देश पर अफसरों को मुंबई भेजकर कई बार हवाई जहाज से सैंडल मंगवाई गई।

जब विकीलीक्स ने मायावती की सैंडल मुंबई से मंगाने का खुलासा किया तो वपक्षी दलों ने मायावती पर सरकारी धन के दुरूपयोग करने समेत तमाम आरोप लगाए थे। इसके बाद मायावती ने जूलियन असांजे को पागल बताया था। मायावती ने कहा था कि उसे देश के पागलखाने में भेज देने चाहिए नहीं तो यूपी में आगरा का पागलख़ान भी खाली है।

खुलासे के बाद मायावतीमायावती ने विरोधी दलों पर जानबूझकर छवि खराब करने की कोशिश का आरोप लगाया था। आगे मायावती ने कहा कि विकीलीक्स के खुलासे को जिस तरह से बीजेपी प्रसारित कर रही है, उससे लगता है कि वो विकीलीक्स को हमारे खिलाफ इस्तेमाल कर रही है। मायावती ने दोनों के बीच साथ गांठ का आरोप लगाया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top