featured

जानिए ममता का चोटिल होना बीजेपी के सेहत के लिए कितना हानिकारक है…

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पर नंदीग्राम में हमले के बाद सहानुभूति को लेकर घमासान छिड़ा हुआ है। विपक्षी दलों की ओर से कहा जा रहा है कि यह सब ममता बनर्जी वोटों की खातिर कर रही हैं। ममता बनर्जी पर हमले के बाद विपक्षी दलों को ऐसा लग रहा है कि कहीं सहानुभूति वोट उनकी ओर न चला जाए।

‘सहानुभूति’ इस शब्द की ताकत को राजनीतिक दलों के बीच अच्छे से समझा जा सकता है। देश की सियासत में कई ऐसे मौके आए जब राजनीतिक दल सहानुभूति के लहर पर सवार होकर शानदार जीत दर्ज हासिल की। देश ही नहीं विदेशों में भी चुनाव के वक्त सहानुभूति वोटों से बाजी पलटने की कोशिश हुई। एक बार फिर इस शब्द को लेकर घमासान मचा हुआ है।

ममता बनर्जी पर हमले के बाद विपक्षी दलों को ऐसा लग रहा है कि कहीं सहानुभूति वोट उनकी ओर न चला जाए। देश में कई ऐसे मौके आए जब अचानक सहानुभूति वोटों ने देश की राजनीतिक दिशा ही बदल दी। भारतीय राजनीति के ऐसे ही सहानुभूति वाले चुनावों पर एक नजर –

ऐसी आंधी चली, सारे रिकॉर्ड हो गए ध्वस्त

1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के 2 महीने बाद जब चुनाव हुए उस चुनाव में राजीव गांधी के प्रति ऐसी सहानुभूति की आंधी चली कि जीत के सभी रिकॉर्ड टूट गए। कांग्रेस को इस चुनाव में 542 में से 425 सीटों पर जीत हासिल हुई। इंदिरा गांधी की हत्या अक्टूबर में हुई उसके दो महीने बाद यह चुनाव हुए। इस चुनाव में कांग्रेस को उन सीटों पर जीत हासिल हुई जहां से उनके कैंडिडेट पहले हार रहे थे।

1991में कांग्रेस को मिली जीत

1991 का आम चुनाव शुरू था। चुनाव प्रचार के दौरान ही राजीव गांधी की हत्या हो गई। यह पहला चुनाव था जो दो हिस्सों में हुआ था। एक हत्या से पहले का चुनाव दूसरा हत्या के बाद। कांग्रेस इस चुनाव में 244 सीटों के साथ सत्ता में आई। 20 मई राजीव गांधी की हत्या से पहले लोकसभा की 211सीटों पर वोटिंग हो चुकी थी। बाकी सीटों पर वोटिंग बाद में हुई

रिजल्ट पर भी इसका असर दिखाई दिया। जिन सीटों पर पहले वोटिंग हुई थी वहां परिणाम अच्छे नहीं थे लेकिन जिन सीटों पर राजीव गांधी की हत्या के बाद चुनाव हुए वहां पार्टी को अधिक सीटें मिली।

अमेरिकी चुनाव में भी कोरोना को लेकर सहानुभूति की कोशिश

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को कोराना पॉजिटिव पाए गए। डोनल्ड ट्रंप उनकी पत्नी मेलानिया कोरोना पॉजिटिव हुए। चुनाव के दौरान विपक्षी दल की ओर से यह कहा गया कि कोरोना को लेकर ट्रंप की ओर से सहानुभूति बटोरने की कोशिश हो रही है। डेमोक्रेट पार्टी की ओर से कोरोना को लेकर ट्रंप पर कई सवाल भी खड़े किए गए।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला हुआ। जिस वक्त उसको लेकर काफी हंगामा हुआ। हालांकि नतीजे केजरीवाल के पक्ष में रहे। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की अधिकांश विधानसभा सीटों पर कब्जा जमा लिया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WHATS HOT

Most Popular

To Top