Hindi

जेएनवीयू की 39 बीघा जमीन जेडीओ को दी, छात्रों ने प्रदर्शन किया तो कॉलेज प्रशासन ने करवाया लाठीचार्ज

जेएनवीयू

राजस्थान के जोधपुर में स्थित विश्वविद्यालय जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी की 39 बीघा जमीन जेडीए को दी जा रही है। जेएनवीयू छात्रसंघ अध्यक्ष रविंद्र भाटी और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में छात्रों के विरोध प्रदर्शन के बाद भी विश्वविद्यालय की 39 बीघा जमीन जेडीए को देने पर कॉलेज प्रशासन द्वारा सहमति दे दी गई। स्टूडेंट्स ने भी ठान लिया है कि जब तक विश्वविद्यालय जेडीए को 39 बीघा जमीन देने का फैसला वापस नहीं ले लेता तब तक आंदोलन चलता रहेगा।

छात्रों के शांतिपूर्ण तरीके से धरना देने पर लाठीचार्ज करना कितना उचित?
छात्र जेएनवीयू में हंगामा करने या देश विरोधी नारे लगाने के लिए एकत्रित नहीं हुए थे, छात्र अपनी मांगे रख रहे थे, और शांतिपूर्ण तरीके से धरने पर यूं लाठीचार्ज कराना बिल्कुल भी उचित नहीं है यह नदनीय हैं। छात्रों के ऊपर हुए लाठीचर्ज को देखकर यह प्रतीत होता है, जैसे इसमें कॉलेज और पुलिस बिल्कुल मिले हुए हैं और उन पर किसी राजनीतिक पार्टी जिनकी सरकार अभी प्रदेश में है उनका हाथ है।

एबीवीपी ने लाठीचार्ज के खिलाफ किया प्रदर्शन और सद्बुद्धि यज्ञ का भी किया आयोजन
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से जेएनवीयू में निर्दोष छात्रों पर लाठियां चलाने के विरोध में धरना दिया गया। जेएनवीयू में शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान कॉलेज प्रशासन के इशारे पर उनके ऊपर लाठीचार्ज किया गया जो कि बहुत निंदनीय है छात्रों से बातचीत करने के दौरान पता चला कि विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने धरना स्थल पर सद्बुद्धि यज्ञ का भी आयोजन किया है ताकि कॉलेज प्रशासन के अंदर थोड़ी सद्बुद्धि आए और वह जमीन बेचने का फैसला वापस ले।

जेएनयू और जेएनवीयू में अंतर !!
जब दिल्ली पुलिस सिर्फ जेएनयू के आंदोलनकारियों या तथाकथित विद्यार्थियों को मारती है तो वह एक राष्ट्रीय मुद्दा बन जाता है परंतु राजस्थान के जोधपुर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान जेएनवीयू के छात्रों पर जब लाठी चार्ज होता है तो किसी को फर्क नहीं पड़ता है, कोई ट्वीट नहीं करता है, परंतु सत्य तो यह है की सब ख्याति प्राप्त करना चाहते हैं चाहे गलत हो या सही किसी को फर्क नहीं पड़ता सबको अपना मतलब निकालना है किसी को विद्यार्थियों की समस्या से कुछ लेना-देना नहीं यह हमें समझ लेना चाहिए।

छात्रों ने दुकानों पर जाकर मांगी भीख
छात्रों ने विश्वविद्यालय के आस पास जाकर दुकानों से मांगी भीख छात्रों का कहना है कि यूनिवर्सिटी आर्थिक संकट से जूझ रही है हमारे पास तो इतने पैसे हैं नहीं परंतु हम भीख मांग कर राशि एकत्रित करेंगे और यह राशि विश्वविद्यालय को देंगे ताकि विश्वविद्यालय आर्थिक संकट से बाहर निकल पाए और जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय की 39 बीघा जमीन जो वह जेडीए को बेच रहा है ,वह न बेचे ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WHATS HOT

Most Popular

To Top