featured

बटला हाउस काण्ड का फैसला आ गया, तो अपने वादे के मुताबिक़ ‘ममता’ छोड़ देगी राजनीति…

विधानसभा चुनाव 2021

13 सितंबर 2008 को दिल्ली में हुए सीरियल ब्लास्ट के बाद हुए बटला हाउस बाटला हाउस एनकाउंटर से जुड़े एक केस में दिल्‍ली की एक अदालत ने इंडियन मुजाहिदीन के आतंकी आरिज खान को दोषी करार दिया है। एनकाउंटर के जिस ऑपरेशन को लेकर आरिज को दोषी बनाया गया है, उसे लेकर बीते एक दशक में तमाम थ्योरी और राजनीतिक बयान सामने आ चुके हैं। इसे चाहे मुस्लिम वोटों का तुष्टिकरण कहें या कुछ और लेकिन एक दशक के इस दौर में ममता बनर्जी सरीखे तमाम नेता ऐसे रहे हैं, जिन्होंने इस एनकाउंटर में मारे गए दोषियों से ही संवेदना जताते हुए बयान दिए थे। ममता बनर्जी के ऐसे ही एक बयान को लेकर बीजेपी ने अब उन्हें उनका भाषण याद दिलाया है।

दरअसल, ममता बनर्जी ने 17 अक्टूबर 2008 को दिल्ली के जामिया नगर में एक सभा को संबोधित करते हुए बटला हाउस के एनकाउंटर को फर्जी बताया था। ममता उस वक्त तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष थीं और पश्चिम बंगाल में उस वक्त वाम दलों की सरकार थी। ऐसे में ममता ने जामिया नगर की इस सभा में कहा कि बटला हाउस का एनकाउंटर एक फेक ऑपरेशन था और अगर वो गलत साबित हुईं तो राजनीति छोड़ देंगी। ममता ने इस ऑपरेशन की जूडिशल एंक्वायरी कराने की भी मांग की थी।

इसके अलावा रविशंकर प्रसाद ने सलमान खुर्शीद आपका क्या कहना है? क्या आपके और सोनिया गांधी की आखों से अब आंसू निकले की नहीं? दिग्विजय सिंह जी अब आप क्या कहेंगे?” आपको बता दें कि 13 सितंबर 2008 को दिल्‍ली में सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे। इस हमले में 29 लोग मारे गए थे जबकि करीब 160 लोग जख्‍मी हुए थे। जांच में पता चला था कि इस धमाके में इंडियनमुजाहिद्दीन का हाथ है। जांच आगे बढ़ी तो ये सामने आया कि आतंकी दिल्‍ली के जामियानगर स्थित बाटला हाउस में छिपे हैं। पुलिस जब वहां तलाशी करने पहुंची तो आतंकियों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। आतंकियों की तरफ से इस फा‍यरिंग में इंस्पेक्टर मोहन चंद्र शर्मा शहीद हो गए जबकि दो पुलिस वाले घायल हो गए। वहीं पुलिस की गोलियों से दो आतंकवादी मारे गए जबकि दो बचकर भाग निकले थे।

2008 के ब्लास्ट केस के बाद ऑपरेशन

13 सितंबर 2008 को दिल्ली के करोल बाग, कनॉट प्लेस, इंडिया गेट और ग्रेटर कैलाश में हुए सीरियल बम ब्लास्ट में 26 लोग मारे गए थे। जबकि 133 जख्मी हुए थे। दिल्ली पुलिस ने उस वक्त जांच में पाया था कि, बम ब्लास्ट को आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन ने अंजाम दिया। 19 सितंबर 2008 की सुबह देश की राजधानी के एक छोर पर स्थित जामिया नगर के बटला हाउस में एनकाउंटर हुआ था। बहुचर्चित बाटला हाउस एनकाउंटर से जुड़े एक केस में दिल्‍ली की एक अदालत ने इंडियन मुजाहिदीन के आतंकी आरिज खान को दोषी करार दिया। अदालत ने कहा कि यह साबित हो गया है कि एनकाउंटर के वक्‍त खान भागने में कामयाब हो गया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WHATS HOT

Most Popular

To Top