Hindi

राम मंदिर के भूमि पूजन पर बोले दिग्विजय सिंह; ‘मुख्य पुजारी कोरोना पॉजिटिव, अब बताओ मुहूर्त सही या गलत?’

अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन समारोह पांच अगस्त को होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर की आधारशिला रखने के लिए अयोध्या पहुंचेगे। वही अब एक बार फिर से कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह ने भूमि पूजन समारोह पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि राम मंदिर के मुख्य पुजारी सहीत 14 लोग कोरोना पॉज़िटिव हो गए अब बताओ मुहूर्त सही है या गलत?

दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘राममंदिर के मुख्य पुजारी सहीत 14 लोग कोरोना पॉज़िटिव, अब बताओ मुहूर्त सही है या गलत? अब बताओ शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती जी सही है गलत?।’

कांग्रेस सांसद का ट्वीट ऐसे समय में आया है जब राम जन्मभूमि के पुजारी प्रदीप दास की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। उन्हें होम आइसोलेट किया गया है। राम जन्मभूमि की सुरक्षा में लगे 16 पुलिस कर्मी भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। बता दें राम जन्मभूमि में प्रधान पुजारी के साथ-साथ चार पुजारी राम लला की सेवा करते हैं।

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने कहा था कि सभी प्रमाणित शंकराचार्य लोगों को आमंत्रित कर शुभ मुहूर्त में ही शिलान्यास करवाना उचित होगा। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से कहा था कि ये धार्मिक विषय है, राजनीति को इससे दूर रखिए। दिग्विजय सिंह से पहले NCP प्रमुख शरद पवार ने पीएम मोदी के अयोध्या दौरे को लेकर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था, ‘कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बनाने से कोरोना वायरस महामारी का उन्मूलन करने में मदद मिलेगी।’ जिसकी काफी आलोचना हुई थी। वही बीजेपी ने दिग्जिवजय के बयान पर नाराजगी जाहिर की थी।

आडवाणी, भागवत को किया आमंत्रित
200 लोगों के अयोध्या पहुंचने की उम्मीद
ट्रस्ट के सदस्यों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राम मंदिर की आधारशिला रखने के लिए अयोध्या पहुंचेगे। वही ‘भूमि पूजन’ समारोह के लिए जिन लोगों को आमंत्रित किया जा रहा हैं उनमें BJP नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत शामिल हैं। बता दें, दूरदर्शन द्वारा इस समारोह का सीधा प्रसारण किया जायेगा। मंदिर के ट्रस्टी ने यह जानकारी दी।

डिजाइन तैयार, PM को दिखाया जाएगा
बता दें, खबरों के मुताबिक समूचा मंदिर पिंक स्टोन से बनाया जाएगा। बताया जा रहा है कि इसके विभिन्न हिस्सों में लगने वाले तराशे गये पत्थरों की डिजाइन से लेकर माप और लागत आदि का ब्योरा तैयार हो गया है लेकिन इसे सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देखेंगे। इसके बाद ही श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट विवरण और लागत सार्वजनिक करेगा।

भूमि पूजन की तैयारी जारी
ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के मुताबिक, “भूमि पूजन” 40 किलो चांदी की ईंटों को गर्भगृह में रखने के साथ किया जाएगा। तीन अगस्त से शुरू होने वाले तीन दिवसीय वैदिक अनुष्ठान मुख्य समारोह से पहले होंगे।”

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top