featured

शहीद दिवस: जब भगत सिंह के भतीजे ने कहा, “कांग्रेस ने उन्हें हमेशा आतंकी के रूप में दिखाया”

शहीद दिवस: आज 23 मार्च है। भारत में इस दिन का ख़ास महत्व है। आज ही के दिन शहीद ए आजम कहे जाने वाले भगत सिंह, अपने दो साथियों, सुखदेव और राजगुरु के साथ फांसी के फंदे पर झूल गए। भगत सिंह की प्रासंगिकता आज भी उतनी ही है जितनी उस समय में थी, वे महज़ एक क्रांतिकारी नहीं थे, बल्कि एक विचारक थे।

“कांग्रेस ने उन्हें हमेशा आतंकी के रूप में दिखाया”

आज आपको ये मानने वाले की लोग मिल जाएंगे, जो ये कहते है कि भगत सिंह हर मायने में महात्मा गाँधी और पंडित नेहरू से आगे थे, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने हमेशा उन्हें कमतर दिखाया, ताकि देश में नेहरू और गाँधी का प्रचार किया जा सके। लेकिन लम्बे समय तक लोग इसे लेकर खुलकर नहीं बोले। आज से लगभग एक दशक पहले भगत सिंह के भतीजे अभय सिंह संधू, जो भगत सिंह के छोटे भाई कुलबीर सिंह के बेटे हैं, उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा था कि कांग्रेस के लोग भगत सिंह की लोकप्रियता से ख़ौफ़ खाते थे, उन्हें डर था कि भगत सिंह जल्दी ही नेहरू और गाँधी से आगे निकलकर देश के नेता बनकर उभरेंगे। इसलिए कांग्रेस ने हमेशा उन्हें एक आतंकी के रूप में दिखाया, जो बन्दुक चलाता था, बेम फेंकता था।

संधू ने आगे कहा था कि कांग्रेस ने भगत सिंह को बहुत बाद में मान्यता दी, वो भी लोगों की भावनाओं को देखते हुए।

भाजपा के नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने भी उस समय उनके इस बयान का समर्थन किया था, उन्होंने कहा था कि “भगत सिंह के परिवार वाले जो भी कह रहे हैं, मैं उससे सहमत हूँ”

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top