Hindi

ममता ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, कहा- ‘विधायक की मौत खुदकुशी’

बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले के हेमदाबाद से भाजपा विधायक देबेंद्र नाथ राय की संदिग्ध मौत के बाद भाजपा और ममता सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी है। मंगलवार को भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने इसको लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व गृह मंत्री अमित शाह को ज्ञापन सौंपकर इस मामले की सीबीआइ जांच एवं बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की थी। वहीं, अब मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने बुधवार को राष्ट्रपति को पत्र लिखकर कहा कि भाजपा विधायक की मौत संदिग्ध खुदकुशी का मामला है न कि राजनीतिक हत्या। ममता ने यह पत्र तब लिखा है जब एक दिन पहले भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने अपने विधायक की मौत पर राष्ट्रपति से मुलाकात की थी।

इधर, राज्यसभा में तृणमूल संसदीय दल के नेता व राष्ट्रीय प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को राष्ट्रपति से मुलाकात कर उन्हें ममता का पत्र सौंपा एवं मामले के तथ्यों से अवगत कराया। जानकारी के मुताबिक पत्र में ममता ने लिखा, ‘पोस्टमार्टम रिपोर्ट और प्रारंभिक जांच के आधार पर बंगाल पुलिस ने इसे संदिग्ध खुदकुशी का मामला बताया है और यह धन के लेनदेन का स्थानीय मामला हो सकता है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मृतक विधायक की जेब में मिले सुसाइड नोट में दो ऐसे लोगों के नाम भी लिखे हैं जो कथित तौर पर इलाके में धन के लेनदेन की ऐसी गतिविधियों से जुड़े पाए गए। मुझे खेद के साथ यह कहना पड़ रहा है कि यह राजनीतिक मामला नहीं लगता जैसा कि भाजपा पेश कर रही है।’ बता दें कि विधायक देबेंद्र नाथ राय का शव सोमवार को उत्तर दिनाजपुर जिले के बिंदल गांव में अपने घर से एक किलोमीटर की दूरी पर एक दुकान के बाहर फांसी से लटके हुए अवस्था में मिला था। भाजपा इसे हत्या बता रही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top