Bihar

Nitish Kumar Virtual Rally: नीतीश का लालू-राबड़ी पर तंज, बोले- पति-पत्नी के राज में इलाज को तरसती थी जनता

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी वर्चुअल चुनाव रैली का आगाज कर दिया है। रैली में छह जिलों के ग्यारह विधानसभा क्षेत्र शामिल रहे जहां पहले चरण में चुनाव हैं तथा जहां से जदयू के प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार शाम पांच बजे अपनी वर्चुअल चुनावी सभा का आगाज किया। बीते पंद्रह वर्षों में उनके नेतृत्व में विभिन्न क्षेत्रों में हुए विकास से जुड़े काम और समाज में समभाव को लेकर अपनी प्रतिबद्धता का उन्होंने विस्तार से जिक्र किया। सात निश्चय-2 के तहत अपनी सोच पर उन्होंने बात की। स्पष्ट तौर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि काम के आधार पर वोट देने का निर्णय कीजिए। काम पसंद नहीं है तो निर्णय लेने का अधिकार सभी को है। समाज अगर काम के आधार पर निर्णय लेगा तो वह राज्य और देश के हित में होगा।

हमारे लिए पूरा बिहार है परिवार

मुख्यमंत्री अपने संबोधन में विपक्ष पर खासे आक्रमक रहे। उन्होंने कहा कि दूसरे लोगों में कोई दम नहीं है। वे लोग समाज को बांटना चाहते हैं। अनेक प्रकार के भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हें काम करने का कोई अनुभव भी नहीं है। मुख्यमंत्री ने सोमवार को पुन: यह दोहराया कि कुछ लोगों के लिए बेटा, बेटी व पति-पत्नी ही परिवार है पर हमारे लिए तो पूरा बिहार परिवार है। इसलिए लोग सचेत रहें। समाज के हर तबके में उत्थान के मौलिक रूप को समझिए। उन्होंने कहा कि हम तो हर रोज यह दोहराएंगे कि नयी पीढ़ी को आगे बढ़ाकर समाज का विकास करेंगे।

15 साल के शासन पर किया कटाक्ष

नेता प्रतिपक्ष द्वारा पहली ही कैबिनेट में दस लाख लोगों को नौैकरी के निर्णय पर उन्होंने कहा कि उनके स्वजनों ने पंद्रह साल तक बिहार में शासन किया। तब तो स्थिति यह थी कि कैबिनेट की बैठक तक नियमित तौर पर नहीं होती थी। कैबिनेट की प्रत्याशा में निर्णय लिए जाते थे। दुनिया के किसी भी मुल्क के लिए क्या यह संभव है कि सभी लोगों को सरकारी नौकरी दिया जाए। हमलोग इस दिशा में एक-एक कर काम कर रहे, ताकि लोगों की आमदनी बढ़े। कहा, लोगों को इतना अधिक प्रशिक्षण उपलब्ध करा देंगे कि काम के लिए उन्हें मजबूरी में बाहर नहीं जाना पड़े। उद्यिमता के लिए युवाओं को सात फीसद ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराएंगे। हमारी दिलचस्पी काम में है। कुछ लोग अपनी बात को दूसरे ढंग से रख कर भ्रम पैदा कर रहे। उन्होंने अपने एक घंटे के संबोधन में कई बार दोहराया कि काम के आधार पर ही लोग वोट करेंगे।

कल दो चरणों में होगी रैली

बताते चलें कि मंगलवार को मुख्यमंत्री की वर्चुअल रैली दो चरणों में होगी। वे चौबीस विधानसभा क्षेत्रों के लिए वर्चुअल रैली को संबोधित करेंगे। पहला चरण सुबह ग्यारह बजे शुरू होगा। इसमें ग्यारह जिले शामिल किए गए हैैं। इन ग्यारह जिलों में मसौढ़ी, पालीगंज, कुर्था, जहानाबाद, घोसी, संदेश, अगियांव, जगदीशपुर, डुमरांव और राजपुर शामिल है। मंगलवार को ही वर्चुअल रैली का दूसरा चरण शाम चार बजे आरंभ होगा। इसमें चार जिलों के तेरह विधानसभा क्षेत्रों को शामिल किया गया है। इनमें चेनारी, सासाराम, करगहर, दिनारा, नोखा, ओबरा, नवीनगर, रफीगंज, शेरघाटी, बेलागंज, अतरी, झाझा और चकाई विधानसभा क्षेत्र शामिल है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top