Hindi

Madhya Pradesh By Election: सिंधिया बोले, मैं चाहता था मप्र में औद्योगीकरण हो, कमल नाथ ने तबादला उद्योग खोल दिया

राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि 2018 में आपके बीच आया था, उस समय मैंने आप से समर्थन मांगा था। मेरी सोच थी कि 15 साल में शिवराजसिंह चौहान ने जो विकास की लंबी लकीर खींची है, उसे आगे बढ़ाएंगे। लेकिन कमल नाथ ने बल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का केंद्र बना दिया। मैं चाहता था कि मप्र और चंबल में औद्योगीकरण हो, लेकिन कमल नाथ ने तबादला उद्योग खोल दिया। यह कटाक्ष संधिया ने रविवार देर शाम करीब 8.30 बजे म्याना में जनसभा में किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भूल गई कि 1967 में राजमाता सिंधिया ने डीपी मिश्रा की सरकार गिराई थी, उन्हीं के पोता ने 54 साल साल वादाखिलाफी के चलते कांग्रेस की सरकार गिरा दी। सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस में रहते हुए भी गलत को गलत कहा। धारा 370 को हटाने के दौरान कांग्रेस की वर्किंग कमेटी में रहते हुए समर्थन किया था। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि एक-एक पोलिंग बूथ किला है।

कार्यकर्ता अपने किले पर मजबूती से खड़ा है। ध्यान रहे किसी का भी किला हारना नहीं चाहिए। क्योंकि, कार्यकर्ता के पास भाजपा का झंडा है और एक हाथ में ग्वालियर-चंबल संभाग के सम्मान का झंडा है, यह झुकना नहीं चाहिए। सिंधिया ने कहा कि नेता की मूल ताकत कार्यकर्ता होता है। बड़े महाराज ने मुझे सिखाया था कि जो चीज तुम्हें जनता से दूर करे, उसको तुम पहले ही त्याग दो। यह उपचुनाव नहीं है, यह युद्ध मप्र के विकास को प्रगति व भविष्य का है।

कांग्रेस ने किसानों के साथ वादाखिलाफी की, युवाओं और मजदूरों के साथ वादाखिलाफी की और कहते हैं कि महेंद्रसिंह सिसोदिया ने गद्दारी की। जबकि कांग्रेस सरकार ने विधानसभा चुनाव में किए गए किसी भी वादे को पूरा न करते हुए युवा, महिला और किसानों के साथ हर वर्ग के साथ धोखा किया है। इसका जवाब कैसे और कब देना है, आप अच्छी तरह जानते हो।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top