featured

अक्षय बनकर 2 बच्चों का बाप डॉ. अकरम करता रहा नर्स का बलात्कार: अश्लील वीडियो बनाए, गर्भवती होने पर धर्मांतरण का बनाया दबाव

लव जिहाद का एक और हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में अकरम कुरैशी नाम के चिकित्सक (डॉक्टर) पर एक नर्स ने बलात्कार करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि जब नर्स गर्भवती हुई तब उस पर इस्लाम कबूल करने का दबाव भी बनाया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, निजी क्लीनिक में काम करने वाले अकरम ने नर्स को अपने प्रेम जाल में फँसाया। फिर उसने शादी का झांसा देकर महीनों तक उस नर्स के साथ बलात्कार किया।

विवाह की बात आने पर अकरम कुरैशी ने नर्स पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाना शुरू कर दिया। सबसे ज़्यादा हैरानी की बात है, नर्स 6 महीने की गर्भवती है। डॉक्टर अकरम कुरैशी पर यह आरोप भी लगाया गया है कि सबसे पहले उसने अपनी पहचान छुपाई और अपना नाम अक्षय बताया था। इसके अलावा उसने यह बात भी सामने नहीं आने दी कि वह शादीशुदा है और उसके दो बच्चे हैं। नर्स ने यह आरोप भी लगाया है कि अकरम ने कई महीनों तक उसे जबरन बंधक बना कर यातनाएं भी दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पीड़ित महिला एक निजी क्लीनिक में बतौर नर्स काम कर रही थी। आरोपित अकरम ने अपनी मज़हबी पहचान छुपा कर उसे बहलाना फुसलाना शुरू किया। आरोपों के मुताबिक़ अकरम कुरैशी ने कहा कि उसका तलाक हो चुका है और वह उससे (नर्स) से शादी करना चाहता है। इस दौरान उसने महीनों तक नर्स का शारीरिक शोषण किया, नर्स ने यह भी आरोप लगाया है कि आरोपित डॉक्टर ने आपत्तिजनक वीडियो भी बनाए थे। जब भी वह शादी की बात करती थी डॉक्टर वही वीडियो के ज़रिए धमका कर उसे चुप करा देता था।

जब नर्स गर्भवती हुई तब अकरम ने गर्भपात कराने का दबाव बनाया। जब नर्स ने ऐसा कराने से मना कर दिया तब डॉक्टर ने उसके साथ मारपीट की और धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया। नर्स ने यह भी आरोप लगाया कि मंगलवार (17 नवंबर 2020) को जब वह डॉक्टर की पत्नी से मिली तब डॉक्टर की पत्नी ने उसके पेट पर लात मारी। इस हरकत की वजह से उसकी सेहत बदतर हो गई। इसके बाद वह किसी तरह वहाँ से बच कर निकली और पुलिस थाने जाकर शिकायत दर्ज कराई। नर्स के आरोपों के अनुसार अकरम कुरैशी ने उसका धर्म परिवर्तन कराने की पूरी तैयारी तक कर ली थी। उसने निकाहनामा (इस्लामी क़ानून के अनुसार वैवाहिक प्रमाण पत्र) तक तैयार करा लिया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पीड़ित महिला की साल 2012 में शादी हुई थी लेकिन कुछ कारणों की वजह से उसका तलाक हो गया था। तब से वह एक अस्पताल में बतौर नर्स काम कर रही थी। इसके बाद वह मुस्लिम डॉक्टर से संपर्क में आई जिसने खुद तलाकशुदा होने का दावा किया। डॉक्टर ने कहा था कि उसका एक बेटा है लेकिन सच तब सामने आया जब वह गर्भवती हुई।

मुख्य आरोपित फरार
पुलिस ने इस मामले में अभी तक कुल 2 लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस द्वारा जारी किए गए बयान के मुताबिक़ इस मामले में दो लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। आरोपित अकरम कुरैशी की पत्नी और उसके भाई की गिरफ्तार हो चुकी है और संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा चुका है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top