featured

‘सोनिया गाँधी, अहमद पटेल को 700 करोड़ का लाभ’: अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में नाम आने पर बीजेपी ने बोला हमला

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला फिर चर्चा में है। अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हैलीकॉप्‍टर घोटाला मामले में सोनिया गाँधी के नेतृत्व वाली कॉन्ग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के कथित तौर पर नाम सामने आने के बाद भाजपा ने बुधवार (18 नवंबर, 2020) को पार्टी पर जमकर हमला किया। बता दें कॉन्ग्रेस पर आरोप लगाया गया कि सौदा होने पर पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी और वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को 700 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद थी।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि इटली की अदालत द्वारा नवंबर 2012 में अगस्ता वेस्टलैंड की शुरू हुई एक जाँच ने वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे में अनियमितताओं को उजागर किया था। क्रिश्चियन मिशेल के एक खुलासे का हवाला देते हुए, राठौड़ ने कहा कि करोड़ों के अगस्ता घोटाले में वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेताओं सहित सोनिया गाँधी भी शामिल थी।

भ्रष्टाचारों से लिप्त कॉन्ग्रेस पर हमला करते हुए राठौड़ ने कहा, “जब भी रक्षा सौदों में घोटाले की बात आती है तो कॉन्ग्रेस का नाम आता है। उन्होंने कहा कि जीप घोटाला, टाट्रा ट्रक घोटाला, बोफोर्स घोटाला और अब अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला, ये सब कॉन्ग्रेस के शासन में हुए हैं। क्या कारण है कि रक्षा समझौतों में कॉन्ग्रेस ने हमेशा घोटाले किए हैं? पार्टी के वरिष्ठ सदस्य यानी सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी को स्पष्टीकरण देना चाहिए और इस बात का जवाब देना चाहिए कि इस घोटाले में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का नाम क्यों आए हैं।”

मुख्य आरोपित क्रिश्चियन मिशेल के बयान का जिक्र करते हुए, राठौड़ ने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस पार्टी के गाँधी परिवार की घोटाले में प्रत्यक्ष भूमिका थी। उन्होंने कहा, “मिशेल ने अपने बयान में ‘इटली की महिला के बेटे के साथ मुलाकात करने का जिक्र किया था जो प्रधानमंत्री बनने की कतार में हैं।”

राठौड़ ने कहा, “चार्जशीट में यह उल्लेख किया गया है कि रक्षा अधिकारियों, नौकरशाहों, राजनेताओं को किकबैक का भुगतान किया गया था और यह सब स्विस पुलिस द्वारा जब्त दस्तावेजों पर आधारित है। क्रिश्चियन मिशेल का बयान और एक अन्य आरोपित राजीव सक्सेना से पूछताछ में भी यह सब कुछ सामने आया है।”

राहुल गाँधी पर तंज कसते हुए राठौड़ ने कहा कि जो व्यक्ति बार-बार, छोटी-छोटी चीजों पर ट्वीट करता है वह इतने बड़े घोटाले में स्पष्ट रूप से अपने नेताओं के नाम सामने आने के बावजूद भी चुप्पी साधे हुए हैं।

गौरतलब है कि कर्नल राज्यवर्धन राठौर का प्रेस बयान मुख्य आरोपित राजीव सक्सेना द्वारा सलमान खुर्शीद, कमलनाथ के बेटे बकुल नाथ और सोनिया गाँधी के करीबी सहयोगी अहमद पटेल के घोटाले में शामिल होने के बारे में किए गए खुलासे के बाद सामने आया है।

बता दें, 3,600 करोड़ रुपए के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदे घोटाले में आरोपित राजीव सक्सेना ने पूछताछ में कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेताओं अहमद पटेल और सलमान खुर्शीद तथा कमलनाथ के पुत्र बकुल नाथ के नाम लिए हैं।

उल्लेखनीय है, सक्सेना को दुबई में यूएई के सरकारी सुरक्षा एजेंसियों द्वारा गिरफ्तार किया गया था और बाद में 30 जनवरी 2019 को भारत में प्रत्यर्पित किया गया था। वहीं प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ में उसकी 385 करोड़ रुपए की संपत्ति का मामला भी सामने आया था

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला
भारत ने प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और अन्य VVIP की सेवा के लिए 12 अगस्ता वेस्टलैंड AW101 हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए यूपीए शासन के तहत 2010 में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसमें कुछ राजनेताओं और लोक सेवकों का अपने आधिकारिक पदों का दुरुपयोग करते हुए मोटी घुस लेने का आरोप लगा था। घोटाला सामने आने के बाद 2013 में सौदा रद्द कर दिया गया था।

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी चॉपर घोटाले के सामने आने के बाद इसने तमाम कॉन्ग्रेसी नेताओं की पोल खोल कर रख दी थी। वहीं बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को दुबई से भारत लाया गया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top