featured

बीजेपी से AIMIM ने छीनी गोधरा नगर पालिका का सीट, ओवैसी ने 17 पार्षद जुटा लिए और भाजपा …

गुजरात में हाल ही में हुए पालिका और पंचायत चुनाव में भाजपा को रिकॉर्ड जीत मिली तो मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस की करारी हार हुई है। असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम और अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आप पहली बार गुजरात निकाय चुनाव में उतरी थीं। दोनों ही पार्टियों के प्रदर्शन ने ध्यान खींचा लेकिन असली राजनीतिक खेल अब असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम ने किया है। गोधरा नगरपालिका में सात सीटें जीतने वाली एआईएमआईएम ने 19 सीटें जीतने वाली भाजपा को विपक्ष में बैठाते हुए पालिका की सत्ता हासिल कर ली है।

एआईएमआईएम ने 17 निर्दलीय जुटा लिए गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में 44 सदस्यों वाली गोधरा नगरपालिका में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के सात पार्षद जीत कर आए हैं। उसने 17 निर्दलीय पार्षदों को अपने साथ जोड़ा और गोधरा नगरपालिका पर काबिज हो गई है। गोधरा नगरपालिका की की सत्ता पर काबिज होने के लिए 23 पार्षदों की जरूरत होती है। 19 सीटें जीतने वाली बीजेपी को चार पार्षदों का समर्थन नहीं मिल सका। वहीं एआईएमआईएम ने 17 निर्दलीयों का समर्थन जुटा 24 पार्षदों कर लिए।

पहले चुनाव में ओवैसी के लिए ये बड़ी सफलता गुजरात निकाय चुनाव में पहली बार उतरी एआईएमआईएम के लिए ये बड़ी सफलता है। गोधरा की 44 नगर पालिका सीटों में से एआईएमआईएम ने आठ सीटों पर चुनाव लड़ा था। इनमें से सात सीटों पर उसे जीत मिली है। हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ने गुजरात में ना सिर्फ गोधरा बल्कि अहमदाबाद महानगर पालिका में भी नौ सीटें जीती हैं। वहीं मोडासा नगरपालिका में एआईएमआईएम का प्रदर्शन अच्छा रहा है। गुजरात में नगर पालिका चुनाव के लिए 28 फरवरी को मतदान हुआ था और दो मार्च को नतीजों का ऐलान किया गया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top